समर्थक

बुधवार, 1 जुलाई 2009

एक पत्रकार की इच्छाशक्ति ने बदली मुगल शासक के वंशज की जिंदगी

देश को आजादी प्राप्त किए एक लम्बा समय बीत गया पर अभी भी तमाम ऐसे वाकये देखने को मिलते हैं कि दंग रह जाएं। तमाम रजवाड़ों के वंशज आज उपेक्षित एवं गरीबी की हालत में जीवन जी रहे हैं। अंतिम मुगल शासक बहादुर शाह जफर की वंशज सुल्ताना बेगम के बारे में अक्सर अखबारों में पढ़ने को मिलता रहता है। वे पश्चिम बंगाल के हावड़ा जनपद में फोरशोर रोड के पास कावीज घाट बस्ती में चाय का स्टाल चलाती हैं। उनकी इस दुर्दशा पर कईयों ने कलम चलाई पर किया कुछ भी नहीं। फिलहाल एक पत्रकार सुल्ताना बेगम की मद्द के लिए सामने आया है और उन्हें बतौर मद्द दो लाख रूपए की राशि प्रदान की है।

वस्तुतः जर्नलिस्ट शिवनाथ झा ने अपनी पत्नी नीना के साथ मिलकर 14 प्राइम मिनिस्टर्स पर एक पुस्तक ’प्राइम मिनस्टर्स आॅफ इण्डियाः भारत भाग्य विधाता’ लिखी है। यह पुस्तक एक आन्दोलन है। शिवनाथ झा ने अपनी पत्नी नीना के साथ मिलकर ’आन्दोलन एक पुस्तक से’ चलाया है। इसके तहत हर एक साल पुस्तक प्रकाशित की जायेगी और इससे मिली राशि से भारत को गौरवान्वित करने वाले परिवारों के वंशजों को सम्मानित किया जाएगा। इसी क्रम में सुल्ताना बेगम को दो लाख रूपए की मद्द दी गई। अब इस राशि से सुल्ताना बेगम अपनी बेटी मधु की शादी भी कर सकेंगी।

आज समाज में जहाँ हर कोई बड़ी-बड़ी बातें करता है, वहाँ पर एक पत्रकार दम्पत्ति का यह अद्भुत अभियान उन तमाम राजनेताओं, प्रशासकों, समाजसेवकों एवं मीडियाकर्मियों को अद्भुत सीख है कि कैसे एक व्यक्ति अपनी इच्छाशक्ति से लोगों का जीवन बदल सकता है।
राम शिव मूर्ति यादव
एक टिप्पणी भेजें